जज्बा ओ जूनुन से मिला ताज

0
35
 लगन से ग्लैमर की दुनिया की सीढ़ियां चढ़ती रहीं
एक के बाद एक ताज अपने नाम किए शीलू त्यागी ने
नई दिल्ली। जब कोई भी इंसान यह ठान ले कि उसे मनचाहा मुकाम हासिल करना है, तो वह उसे हासिल कर लेता है। 21वीं सदी की नारी ने जो निर्णय कर लिया, उसे कोई नहीं बदल सकता है। कॉलेज जीवन की कई इच्छाएं दबी रह जाती हैं, जिसे अधिकतर लोग विवाह के बाद हासिल नहीं करते हैं। लेकिन, शीलू त्यागी सरीखें कुछ लोग हैं, जो लोगों खासकर महिलाओं के लिए आदर्श बनती हैं। युवतियों के लिए एक प्रेरणास्रोत बनती हैं।
मिसेज नॉर्थ इंडिया 2018 का खूबसूरत ताज अपने नाम करने वाली शीलू त्यागी डेजल की दिल्ली ब्रांड एंबेसडर हैं। दिल्ली विश्वविद्यालय के गार्गी कॉलेज से ग्रेजुएशन करती हैं। शादी होती है। दांपत्य जीवन सुखमय होता है। दो बच्चों की मां बनती हैं। मां बनते ही वात्सल्य का गुण स्वयमेव आता है। बच्चों और पति की देखभाल करते हुए वह ग्लैमर की दुनिया में प्रवेश करती हैं। आखिर यह कैसे संभव हुआ ? शीलू त्यागी बताती हैं कि जब आपके अंदर आत्मविश्वास पूरा हो। परिवार और खासकर पति का साथ हो। बच्चे आपकी हौसला-अफजाई करते हैं, जो कोई भी मंजिल दूर नहीं होती हैं। वो कहती हैं कि पारिसा कम्युनिकेशंस की तबस्सुम मैम ने जिस तरह से हमें और हम जैसी सैकड़ों महिलाओं को एक नई राह दिखाई है, वह काबिलेतारीफ है। यही कारण है कि आज मैं मिसेज नॉर्थ इंडिया 2018 बनीं। उन्होंने मुझे डेजल की दिल्ली ब्रांड एंबेसडर बनाया। मैं अपनी मेहनत और लगन से मिसेज स्टाइल ऑइकन, मिसेज फोटोजेनिक, मिसेज फेस ऑफ दिल्ली बनीं। ये मेरी खुशकिस्मती रही कि उपरवाले ने एक के बाद एक मुकाम दिया और मैं मिसेज इंडिया यूनिवर्स 2018, मिसेज ग्लैमरस, मिसेज इंडिया यूनिवर्स नॉर्थ बनीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here